Home Spiritual Carol बौद्ध धर्म : करुणामय एवं वैज्ञानिक

बौद्ध धर्म : करुणामय एवं वैज्ञानिक

4 second read
0
बौद्ध धर्म : करुणामय एवं वैज्ञानिक

जहाँ एक ओर अन्य धर्मों के अनुयायी अपने हजारों साल पूर्व लिखे गए धर्मग्रंथों से बँधे रहते हैं वहीं बुद्ध कहते हैं कि मेरी बात को मानने से पहले उसका परीक्षण करो. क्योंकि जो आज सही है वह कल गलत भी हो सकता है. सत्य समय व् परिस्थितियों के अनुसार बदल सकता है. इससे सिद्ध होता है कि अन्य धर्मों की मान्यताओं के विपरीत बौद्ध धर्म में तर्क वितर्क के लिए स्थान है तथा वह एक प्रगतिशील व वैज्ञानिक धर्म है.

यही कारण है कि वह अन्य धर्मों की तरह युद्धों के द्वारा नहीं बल्कि शांति और करुणा के संदेश के साथ दुनिया में फैला. बौद्ध धर्म को नाम आते ही जेहन में प्रेम. करुणा. शांति और अहिंसा का ही ख्याल आता है.

“सभी गलत कार्य मन से ही उपजाते हैं | अगर मन परिवर्तित हो जाय तो क्या गलत कार्य रह सकता है |”
-गौतम बुद्ध

Happy Buddh Poornima

Comment Below

Load More Related Articles
Load More By Magberry Team
Load More In Spiritual Carol

Check Also

Google to pay Apple $3bn to remain on iPhone

Google will pay Apple nearly $3 billion this year to remain as the default search engine o…